Subscribe To Our Newsletter

Get Our Latest Updates Straight To Your Inbox For
Free! Unsubscribe Any Time Whenever You Want.

Powered by Knigulper

इंसान की कीमत hindi motivational story

प्रेरक प्रसंग insaan ki kimat

hindi story
taemurlang


इतिहास में एक बहुत अत्याचारी शासक हुआ था जिसने लाखो लोगो का कत्लेआम किया था. उस एक पांव से लंगड़े शासक का नाम तैमुरलंग था. वह बहुत ही निर्दयी शासक था. उसे दुनिया पर विजय प्राप्त करने की सनक थी. लोगो में उसकी सेना का खौफ था. वो जिस जगह जाता उस जगह को जितने के बाद वहां के लोगो का कत्लेआम करवाता था.

उसने कई देशो के साथ भारत में भी बहुत से लोगो की निर्मम हत्याएँ करवाई थी. इस प्रकार तैमुरलंग जहाँ भी जाता वहां पर वो बहुत आतंक फैलाता था. एक बार उसकी सेना ने तुर्किस्तान पर हमल किया तथा उसको जीत लिया.

राज्य को जीतने के बाद बहुत से लोगो को सैनिको ने बंदी बना लिया. उन लोगो में से एक कवि भी था, जिसका नाम थापर अहमद था.

 जब तैमुरलंग को इस बात का पता चला तो उसने कवि से कहा कि -" सुना है थापर कवि इंसान के परखी होते है वो उसे देखकर उसकी कीमत बता देते है?"
"जी हाँ !" कवि ने जवाब दिया.

तैमुरलंग ने कहा तो फिर बताओ इन गुलामो की क्या कीमत है?
कवि ने कुछ देर सोचकर कहा " किसी भी गुलाम की कीमत चार सौ दीनार से कम नहीं है.."

यह सुनकर उस अत्याचारी शासक ने कहा की तो फिर बताओ मेरी कीमत क्या है?
थापर कवि ने कहा की आप यह नहीं पूछे तो ही अच्चा रहेगा. लेकिन तेमूर अपनी बात पर अडिग रहा और उसने कहा की यदि तुमने सही कीमत बता दी तो तुम्हे माफ़ कर दिया जाएगा. उसे लगा की कवि उसकी कीमत बहुत बड़ी बताएगा.

लेकिन कवि थापर अहमदी ने निर्भयता से कहा कि "आपकी कीमत चौबीस अशर्फियो से एक भी अधिक नहीं है."
यह सुनकर तैमुरलंग बहुत क्रोधित होते हुए बोला "तुम्हे पता है 24 अशर्फियो के तो केवल मेरे कपड़े है?"

"मैने कपड़े की ही कीमत बताई है बिना कपड़े के तो आपकी कीमत फूटी कोड़ी भी नहीं है. जिस इन्सान में दया,करुणा, क्षमा और प्रेम का भाव नहीं है उसकी भला क्या कीमत हो सकती है?" अहमदी ने साहस के साथ जवाब दिया.

यह सुनकर तैमुरलंग अपनासा मुहँ लेकर रह गया.

moral
  दोस्तों क्षमा तो वीरो का आभूषण है और असमर्थ मनुष्यों का गुण है. जिस व्यक्ति के ह्रदय में दया और करुणा है वो ही सच्चे अर्थो में मनुष्य है.

कबीरदास जी ने कहा है कि-"जहाँ दी रहती है वहाँ धर्म रहता है.. जहाँ लोभ रहता है वहाँ पाप रहता है.. जहाँ क्रोध रहता है वहाँ काल रहता है, और जहाँ क्षमा रहती है वहां भगवान रहते है.."
read also




आपको हमारी यह पोस्ट पसंद हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ facebook, whatsapp पर share जरुर करे. और आपके विचार comments box में जरुर रखे.

हमारी नई पोस्ट को अपने ईमेल पर free में पाने के लिए हमारा free email subscription जरुर लें.
Loading...

No comments:

Post a Comment