दोस्ती की कहानी true Friendship in hindi


       Best Hindi story on friendship 


दो best friends थे वे बड़े ही बहादुर थे. उनमे से एक ने बादशाह के अन्याय के खिलाफ आवाज उठाई. बादशाह बड़ा ही बेहरम था. उसने उस नौजवान को फांसी पर लटका देने का आदेश दिया. नौजवान ने बादशाह से कहा – आप जो कर रहे है वो ठीक है. मै ख़ुशी ख़ुशी मौत की गोद में चला जाऊंगा. लेकिन आप मुझे थोड़ी मोहलत दे दीजिए, जिससे मै अपने village जाकर wife और बच्चों से मिलकर आ जाऊ.

story on friendship


बादशाह ने कहा – नहीं, मुझे तुम पर विश्वास नहीं है. उस नौजवान का मित्र वहां मौजूद था. वह आगे बढ़कर बोला – मै अपने दोस्त की जमानत देता हूँA अगर यह लौटकर न आये तो इसके बदले में मुझे फांसी पर चढ़ा देना. बादशाह चकित रह गया. उसने अब तक ऐसा आदमी नहीं देखा था, जो दोस्त के लिए अपनी जान देने के लिए अपनी जान देने को तैयार हो जाएबादशाह ने उसकी प्रार्थना स्वीकार कर ली. उसे 6 घंटे का time दियाA नौजवान घोड़े पर सवार होकर अपने गाँव की ओर रवाना हो गया .

नौजवान के मित्र को जेलखाने में भेज दियानौजवान ने हिसाब लगाकर देखा और सोचा की वह 5 घंटे में अपने बच्चो और वाइफ से मिलकर वापिस आ जाऊंगा.

जब नौजवान अपने परिवार से मिलकर लौट रहा था तो उसका घोडा चक्कर खा कर गिर गया. ऐसा गिरा की फीर वह उठ भी नहीं पाया. उस युवक ने बहुत कोशिश की ताकि घोड़ा उठ जाए, लेकिन घोडा नहीं उठ पाया. उस नौजवान ने सोचा ऐसे तो वो बहुत लेट हो जाएगा. इसलिय उसने घोड़े को वही पर ही छोड़ कर के ही बादशाह के महल की ओर रवाना हो गया.

Read Also

दोस्तो पर शायरी | friends kaise ho hindi quotes


दो मेंढक Best Hindi Motivational Story


उधर 6 घंटे बीत जाने के बाद भी वह नौजवान नहीं लौटा तो बादशाह ने उस नौजवान के दोस्त को फांसी देने के लिए लाया गया. वह दोस्त बड़ा खुश था की आज उसकी जान उसके friends के कम आ रही है
बादशाह ने कहा – मुझे पता था यही होगा.
उस मित्र ने कहा- हजूर टाइम हो गया है आप मुझे फांसी दे दीजिए.

उसको फांसी के तख्ते पर चढाने की तैयारी की जाने लगी. तभी वो नौजवान हांफता हुआ वहा पर पहुच गया और अपने दोस्त से कहा की अब मेरे मित्र तुझे फांसी पर चढ़ने की कोई जरुरत नहीं है मै आ गया हूँ.
लेकिन उसका मित्र बोला – दोस्त तुम्हारा टाइम पूरा हो गया है इसलिए फांसी पर मुझे चढ़ाना चाइये.
नौजवान बोला – नहीं मित्र फांसी की सजा मुझे मिली है तो फांसी भी मुझे ही होनी चाइये.

बादशाह उन दोनों की बातों को सुन कर गद्गद हो गया और उसे सच्ची मित्रता को देखने का मौका मिलाबादशाह ने खुश होकर उस नौजवान की फांसी की सजा माफ़ कर दी , दोनों मित्र ख़ुशी ख़ुशी अपने घरों की ओर रवाना हो गये.


शिक्षादोस्तों आपको life में कई friends मिल जाएगे लेकिन सच्चा दोस्त वही होता है जो संकट में काम आये. इस story से हमे यही शिक्षा मिलती है की जब दोस्त के साथ कोई समस्या आये या उस पर कोई संकट आये तब जो काम आये वो होता है दोस्त.


फ्रेंड्स आपको हमारी यह “ ऐसा हो दोस्त “ कैसी लगी comments करके जरुर बताए. आपको यदि अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे .



keywords :-  story on friendship, story of friendship, short story on friendship , good moral stories, best friend story, Story about friendship, friendship, friends.


विरम सिंह
विरम सिंह

He is a educational blogger and share useful content in hindi on this blog regularly. if you like this blog then share with your friends.

No comments:

Post a Comment