जब सीमा पर जवान शहीद हुआ होगा



कविता 




उस दिन आसमां भी बिलखा होगा,
जब सीमा पर जवान शहीद हुआ होगा ।


अस्ताचल को जाता भानू भी ठिठका होगा,
जब डोली मे बैठी बहना को शहीद भाई का मुँह दिखाया होगा ।।


आँगन मे बैठी बुढ़ी माँ का आँचल भी दुध से भीग गया होगा ,
जब शहीद जवान बेटे की देह को सीने से लगाया होगा ।।

काल भी अपने किए खोटे काम पर पछताया होगा ,
जब मेंहदी वाले हाथो ने अपनी माँग को मिटाया होगा ।


यमलोक में यमदेव भी चुपके चुपके बिलखे होंगे ,
जब दुध पीते बेटे ने शहीद पिता को अग्नि दी होंगी ।


उस दिन आसमां भी बिलखा होगा , 
जब सीमा पर जवान शहीद हुआ होगा ।

विरम सिंह सुरावा






विरम सिंह
विरम सिंह

He is a educational blogger and share useful content in hindi on this blog regularly. if you like this blog then share with your friends.

4 comments:

  1. उस दिन आसमां भी बिलखा होगा ,
    जब सीमा पर जवान शहीद हुआ होगा ।
    बहुत बढिया प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  2. बहुत ही। acchi पोस्ट ।।।

    ReplyDelete
  3. धन्यवाद इन्द्र सिंह जी

    ReplyDelete