शेख सादी के 20 अनमोल वचन


Shekh saadi quotes in hindi


1. अज्ञानी के लिए ख़ामोशी से बढकर कोई चीज नहीं और यदि उसमें यह समझने की बुद्धि हो, तो वह अज्ञानी नहीं।

2. यदि चिड़िया एकता कर ले तो शेर की खाल खींच सकती है।

3. जो अधिक धनवान है वही अधिक मोहताज है।

4. सब्र जिन्दगी के मकसद का दरवाजा खोलता है, क्योंकि सिवाय सब्र के उस दरवाजे की और कोई कुंजी नही है।

hindi-quotes


5.  जो आपके सामने दुसरो की निंदा करता है वह दूसरों के सामने आपकी भी निंदा करेगा।

6. यदि मनुष्य में परोपकार नहीं है तो वह दीवार पर बने चित्र के समान है।


7. वह व्यक्ति वास्तव में बुद्धिमान है जो क्रोध की हालत में भी बुरी बात मुंह से नहीं निकलता।

8. सेवा से सौभाग्य प्राप्त होता है।

9. हर व्यक्ति अपने मत को सच्चा और अपने बच्चे को अच्छा समझता है, लेकिन इसलिए दुसरे के मत या बच्चे को बुरा कहना उचित नहीं है।

10. अगर इन्सान सुख-दुःख की चिंता से उपर उठ जाए तो आसमान की ऊंचाई भी उसके पैरों तले आ सकती है।

शेख सादी के अनमोल विचार


11. जो व्यक्ति विवेक के नियमों को सीख लेता है लेकिन उनके अनुसार अमल नहीं करता, वह उस आदमी के समान है जिसने अपने खेत में मेहनत तो की, मगर बीज नहीं डाला।

12. उपहार लेना अपना सबकुछ खोना है।

13. धनिक कंजूस गरीब से भी गरीब है।

14. दान से धन घटता नहीं बढ़ता है। अंगूरों को शाखा काटने से और ज्यादा अंगूर आते है।

hindi-quotes


15. उदार बन, खुशमिजाज बन, क्षमावान बन, जिस तरह कुदरत की मेहरबानियाँ तुझ पर बरसी है , तू दुसरो पर बरसा।

16. जो सीखता है मगर अपनी  विद्या का उपयोग नहीं करता, वह किताबों से लदे गधे के समान है।

17. पडोसी की सिफारिश से स्वर्ग में जाना नरक में जाने के समान है।

18. बुरे को पालना भले को चोट पहुचाने के समान है।

19. अगर अमीरों में न्याय होता और गरीबों में संतोषहोता तो दुनिया में भीख मांगने की प्रथा उठ गई होती।

20. पेट को भोजन से खली रखो ताकि उसमे ईश्वरीय ज्ञान का प्रकाश हो।

read also 

दोस्तों आपको हमारी यह पोस्ट "शेख सादी के 20 अनमोल कथन" कैसे लगे ? आप अपने विचार कमेंट्स बॉक्स में जरुर रखे और इन विचारों को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें।

loading...
विरम सिंह
विरम सिंह

This is a short biography of the post author. Maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec vitae sapien ut libero venenatis faucibus nullam quis ante maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec.

1 comment:

  1. Thanks Viram ji for sharing such nice quotes of शेख सादी.

    ReplyDelete