शिक्षाप्रद कहानी - कौआ और हाथी | motivational story


  The best hindi motivational story



एक जंगल में एक कौआ रहता था। वह इधर उधर मरे हुए पशु पक्षियों के शरीर को अपना भोजन बनाता था। एक बार वह कौआ जंगल के पास बहने वाली नदी पर पानी पिने के लिए गया। उसने देखा की वह पर एक बहुत बड़े हाथी की लाश पानी में बह रही थी कौआ उसे देख कर बहुत खुश हुआ। और तुरंत उड़ कर लाश पर बैठ गया और भगवन को धन्यवाद देने लगा की उन्होंने उसके लिए यह सब व्यवस्था की| 

Hindi-story




       कौआ भूख लगने पर लाश को नोच कर खा लेता और प्यास लगने पर नदी से पानी पीता। और रात व दिन उसी लाश पर बैठा रहता था।

      नदी का पानी लाश को उसके लक्ष्य की और ले जा रहा था परन्तु लक्ष्यहीन कौआ उस लाश के साथ जा रहा था। कौआ भोजन और जल की सुविधा से खुश था और वो उसके आगे कोई नई बात नहीं सोचता था वह तो सिर्फ लाश को नोच कर खाता तथा पानी पीकर लाश पर ही सो जाता।

   एक दी नदी लाश को उसकी मंजिल पर ले गई। लाश अपनी मंजिल समुन्द्र में पहुँच गई जहाँ पर उसे पहुंचना था लेकिन कौआ अब दुविधा में फंस गया। चारो और अथाह जल था और वो भी खारा। कौआ को वहा पर न तो भोजन मिलता न ही जल।

  इस तरह फसे कौए को एक भूखे मगरमच्छ ने दबोच कर खा लिया और कौए की इहलीला समाप्त हो गई।

शिक्षा moral  



   दोस्तों बहुत से लोगो का जीवन इस कौए की तरह होता है न तो उनका कोई लक्ष्य होता है और न ही कोई जीवन का उद्देश्य। वे तो सिर्फ बस जिन्दगी के दिन निकाल रहे होते है। और फिर उनका अंत भी इस कौए की तरह दुविधा में फंस कर होता है।

दोस्तों जब तक जीवन में कोई लक्ष्य नहीं तो जीवन जीने का कोई मतलब ही नहीं रह जाता। इस संसार में भोजन तो सभी प्राप्त कर लेते है जिस प्रकार इस कहानी में कौए के पास भोजन था लेकिन उसका कोई लक्ष्य नहीं था वो तो बस बहता जा रहा था और उसका जीवन भी उसी प्रकार समाप्त हो गया।

दोस्त यदि आपके पास कोई लक्ष्य है तो आप उसे जरुर पा सकते है और आपकी कोई help भी कर सकता है जिस प्रकार उस लाश को समुन्द्र में जाना था तो उसके इस लक्ष्य को पूरा करने में नदी के पानी ने मदद की लेकिन कौए का कोई लक्ष्य नहीं था तो उसे मगरमच्छ खा गया।


दोस्तों आपको हमारी कहानी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे और हमारी नई पोस्ट को अपने ईमेल पर प्राप्त करने के लिए हमारा फ्री ईमेल सब्सक्राइब जरुर ले।

Read More Motivational Story




Previous
Next Post »

3 टिप्पणियाँ

Click here for टिप्पणियाँ
Babulal Kol
admin
June 25, 2017 at 10:19 AM ×

http://www.devanagaritech.com/2017/06/deactivate-deceased-person-google-account.html

Reply
avatar