सफलता की कीमत संघर्ष | How to success


दोस्तो हमारी परीक्षा लेने के लिए Life मे कभी जीत की खुशियाँ आती है, तो कभी गम मिलते है ।यह हम पर निर्भर करता है कि उनका सामना कैसे करे । जीत कोशिश किए बिना नही मिलती ।

How to success


कहानी
Biology के एक Teacher अपने students को पढा रहे थे कि सूँड़ी (कीट) तितली मे कैसे बदल जाती है । उन्होंने students से कहा कि कुछ घंटो मे तितली अपनी खोल से बाहर निकलने की कोशिश करेगी । उन्होंने students को आगाह किया कि वे खोल से बाहर निकलने मे तितली की Help न करे । इतना कह कर वे lab से बाहर चले गए ।

   छात्र wait करते रहे । तितली खोल से बाहर निकलने के लिए संघर्ष करने लगी । एक student को उस पर दया आ गई । अपने अध्यापक की सलाह न मानकर उसने खोल से बाहर निकलने का प्रयास कर रही तितली की Help करने का फैसला किया । उसने खोल को तोड़ दिया , जिसकी वजह से तितली को बाहर निकलने के लिए अधिक मेहनत नही करनी पडी । लेकिन थोडी देर मे वो मर गई ।



वापस लौटने पर शिक्षक को सारी घटना मालूम हुई । तब उन्होंने students को बताया कि खोल से बाहर निकलने के लिए तितली को जो संघर्ष करना पडता है , उसी वजह से उसके पंखो को मजबूती और शक्ति मिलती है। यही प्रकृति का नियम है । तितली की Help करके student ने उसे संघर्ष करने का मौका नही दिया । Results यह हुआ कि वह मर गई ।

        अपनी Life मे भी यही Rule लागू किजिए । Life मे कोई भी चीज बिना Hard Work के नही मिलती । जो माँ - बाप अपने बच्चो को संघर्ष करने का मौका नही देते वे अपने बच्चो को नुकसान पहुंचा रहे है । क्योंकि बिना संघर्ष हालात इस तितली जैसी हो जाती है ।
Success होने के लिए बहुत बडी कीमत अदा करनी पडती है और वह कीमत है - संघर्ष !
World मे हर व्यक्ति सफलता प्राप्त करना चाहता है पर वो इसके लिए मेहनत नही करना चाहता । किसी भी चीज को पाने के लिए कीमत चुकानी बहुत आवश्यक है ।
मुफ्त मे मिली चीज किसी काम की नही होती ।

प्रेरणा 
     किसान 4 month hard work करता है तब उसे एक दाने से अनेक दाने प्राप्त होते है और अनाज को बो के घर सो जावे तो कुछ प्राप्त नही होगा । स्पष्ट है बिना कीमत चुकाये कुछ भी हासिल नही होता है । इसलिए सफलता की कीमत संघर्ष है ।



आपको हमारी यह post कैसी लगी comments करके जरूर बताय और अपने दोस्तो के साथ जरूर share करे । 


विरम सिंह
विरम सिंह

This is a short biography of the post author. Maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec vitae sapien ut libero venenatis faucibus nullam quis ante maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec.

No comments:

Post a Comment