3 प्रसिद्ध ट्रेवलर के अनमोल कथन | Motivational quotes in hindi

    Hello friends 
27 सितंबर को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप मनाया जाता है । आज इस पर्यटन दिवस के मौके पर 3 प्रसिद्ध यात्रीयो के अनमोल कथन प्रस्तुत कर रहे है । 
आपको हमारी यह post जरूर पसंद आएगी ।




      मार्को पोलो के कथन

जो कुछ मैने देखा है उसका आधा भी बयां नही किया है , क्योंकि मै जानता हूँ कि मेरी बातों पर विश्वास नही किया जाएगा ।


लोग वही शब्द सुनते है जिनकी वो उम्मीद करते है । कहानी का असर कहने वाले के शब्दो पर नही, सुनने वाले के कानो पर निर्भर करता है ।


इस बात से कोई फर्क नही पडता कि आप कितना धीमे चल रहे है, जब तक कि आप चलते रहे ।


मेरा सबसे बुरा सपना यह ही है कि एक दिन मै नींद से जागूं और मुझे फिर से सामान्य जीवन जीना पडे ।



  क्रिस्टोफर कोलंबस के कथन


समुद्र हर आदमी को एक नया सपना देखने का साहस देता है कि जब आँख खुलेगी तो किनारा सामने होगा ।


अगर आप सूरज की रोशनी का पीछा करेंगे तो पुरानी अंधेरी दुनिया पीछे छूट जाएगी ।


अज्ञात स्थानो पर पहूँच ने मे कोई नक्शा, कोई गणित और होशियारी काम नही आती है ।


धन इंसानो को अमीर तो नही , लेकिन व्यस्त  जरूर बना देता है ।


किसी की मदद करने के लिए किसी उद्देश्य का होना जरूरी नही है । इसके लिए दिल से इच्छा होनी चाहिए ।


   इब्न बतूता के कथन

यात्राएँ आपको निशब्द बना देती है। मूक कर देती है , लेकिन इनसे आप आखिर मे कहानीकार बन जाते है ।


यात्राएँ अजनबी स्थानो पर आपका घर बना देती है । लेकिन आप अपने घर मे अजनबी हो जाते है ।


जो लोग ज्यादा जीवित रहते है वो बहुत देखते है और जो ज्यादा यात्राएँ करता है वो बहुत कुछ देखता है ।


आपको हमारी यह post कैसी लगी comments  करके जरूर बताय और अपने दोस्तो के साथ जरूर share करे ।


Previous
Next Post »

2 टिप्पणियाँ

Click here for टिप्पणियाँ
sadhana vaid
admin
September 28, 2016 at 3:43 AM ×

बहुत ही सुन्दर एवं सार्थक पोस्ट !

Reply
avatar
September 28, 2016 at 6:42 AM ×

धन्यवाद साधना दीदी

Reply
avatar