3 प्रसिद्ध ट्रेवलर के अनमोल कथन | Motivational quotes in hindi

    Hello friends 
27 सितंबर को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप मनाया जाता है । आज इस पर्यटन दिवस के मौके पर 3 प्रसिद्ध यात्रीयो के अनमोल कथन प्रस्तुत कर रहे है । 
आपको हमारी यह post जरूर पसंद आएगी ।




      मार्को पोलो के कथन

जो कुछ मैने देखा है उसका आधा भी बयां नही किया है , क्योंकि मै जानता हूँ कि मेरी बातों पर विश्वास नही किया जाएगा ।


लोग वही शब्द सुनते है जिनकी वो उम्मीद करते है । कहानी का असर कहने वाले के शब्दो पर नही, सुनने वाले के कानो पर निर्भर करता है ।


इस बात से कोई फर्क नही पडता कि आप कितना धीमे चल रहे है, जब तक कि आप चलते रहे ।


मेरा सबसे बुरा सपना यह ही है कि एक दिन मै नींद से जागूं और मुझे फिर से सामान्य जीवन जीना पडे ।



  क्रिस्टोफर कोलंबस के कथन


समुद्र हर आदमी को एक नया सपना देखने का साहस देता है कि जब आँख खुलेगी तो किनारा सामने होगा ।


अगर आप सूरज की रोशनी का पीछा करेंगे तो पुरानी अंधेरी दुनिया पीछे छूट जाएगी ।


अज्ञात स्थानो पर पहूँच ने मे कोई नक्शा, कोई गणित और होशियारी काम नही आती है ।


धन इंसानो को अमीर तो नही , लेकिन व्यस्त  जरूर बना देता है ।


किसी की मदद करने के लिए किसी उद्देश्य का होना जरूरी नही है । इसके लिए दिल से इच्छा होनी चाहिए ।


   इब्न बतूता के कथन

यात्राएँ आपको निशब्द बना देती है। मूक कर देती है , लेकिन इनसे आप आखिर मे कहानीकार बन जाते है ।


यात्राएँ अजनबी स्थानो पर आपका घर बना देती है । लेकिन आप अपने घर मे अजनबी हो जाते है ।


जो लोग ज्यादा जीवित रहते है वो बहुत देखते है और जो ज्यादा यात्राएँ करता है वो बहुत कुछ देखता है ।


आपको हमारी यह post कैसी लगी comments  करके जरूर बताय और अपने दोस्तो के साथ जरूर share करे ।


विरम सिंह
विरम सिंह

This is a short biography of the post author. Maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec vitae sapien ut libero venenatis faucibus nullam quis ante maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec.

2 comments:

  1. बहुत ही सुन्दर एवं सार्थक पोस्ट !

    ReplyDelete
  2. धन्यवाद साधना दीदी

    ReplyDelete