रक्षाबंधन और आज का युवा वर्ग


दोस्तो रक्षाबंधन का त्योहार सदियो से मनाया जा रहा है । इसके पीछे कई घटना के बारे मे आप जानते ही होंगे । आज हम रक्षाबंधन क्यो मनाया जाता है ? और इसके पीछे की घटना के बारे मे जानकारी नही देगे । यह जानकारी आपके पास पहले से ही मौजूद होगी ।
Friends आज हम बात करेंगे " रक्षाबंधन और आज का युवा वर्ग ।"

 
रक्षाबंधन

रक्षाबंधन की जानकारी
रक्षाबंधन हमेशा श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है इस दिन को भाई-बहन का दिन भी कहा जाता है । श्रावण पूर्णिमा को नारियल पूर्णिमा भी कहते है । इस दिन बहन भाई की कलाई पर राखी बांधती है और बदले मे भाई अपनी बहन को रक्षा का वचन देता है ।
रक्षाबंधन के मौके पर केवल बहन ही भाई के राखी नही बांध सकती बल्कि भाई - भाई , बहन - बहन भी आपस मे राखी बांध सकते है ।

रक्षाबंधन और आज का युवा वर्ग

रक्षाबंधन को भाई-बहन के पवित्र रिश्ते का दिन माना जाता है लेकिन आज के कुछ युवा पीढ़ी इस पवित्र और पावन पर्व को भी मजाक का विषय बना रहे है ।
रक्षाबंधन के मौके पर WhatsApp और Facebook पर बहुत से ऐसे message आते है जिसमे इस पावन पर्व का मजाक उड़ाया गया होता है ।
Example - सावधान ☡
      किसी लड़की से कोई पैकेज नही लेवे
रक्षाबंधन पास मे है उसमे राखी भी हो सकती है ।

आप खुद विचार किजिए की ऐसे मैसेज किस मानसिकता के लोगो ने बनाए होगे ?

रक्षाबंधन आने वाला है और किसी को अनजान पैकेज से डर है और किसी को अपनी सुरक्षा बढानी है । अरे शर्म आनी चाहिए हिन्दुस्तान के निवासी होकर ऐसी बाते करते हो ।  यहाँ की नारी इतनी अबला नही है कि किसी अनजान को राखी भेज दे । यदि आपको राखी मिलती है। तो आपको गर्व करना चाहिए कि आपको किसी के भाई है।
"अरे एक राखी की कीमत क्या होती है उस भाई से पूछो जिसके कोई बहन नही है ।"
"अरे बहन की कीमत उससे पूछो जिसकी कलाई जन्म से आज तक सूनी है ।"

पहले रक्षाबंधन रक्षा सूत्र बांधने के निमित्त होता था लेकिन अब इस मे भी विकृति आ गई है । राखी के बदले रक्षा के वचन की जगह महंगे महंगे उपहार लिए और दिए जा रहे है ।
रक्षाबंधन पवित्र बंधन का त्योहार है इसलिए इसकी पवित्रता बनाए रखना हमारा कर्तव्य है ।

आज के युवा वर्ग पर पश्चिमी संस्कृति इतनी हावी हो गई है कि वे बम से ज्यादा राखी बंधाने से डरते है । हम ने बचपन मे प्रतिज्ञा करते थे कि
   भारत मेरा देश है
समस्त भारतीय मेरे भाई बहन है ।
उस प्रतिज्ञा का क्या हुआ ?

 जबरदस्ती राखी बांधना 
     कई school and colleges मे रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाता है जिसमे लड़किया लड़को के राखी बांधती है यह तो अच्छी बात है । लेकिन इस पर्व मनाने का औचित्य तब खत्म हो जाता है जब लड़का राखी नही बन्धावना चाहता है परंतु जबरदस्ती बांध दी जाती है ।
ऐसी राखी बांधने से क्या फायदा ? क्या वो लड़का रक्षा का वचन देगा ? क्या वो दिल से इस रिश्ते को निभा पाएगा ?
इसलिए ऐसे राखी नही बांधना चाहिए क्योंकि इससे रिश्ते की अहमियत नही रह जाती है । ऐसे लोग जिनके मन मे राखी के प्रति सम्मान नही है ऐसे लोगो के राखी बांध कर धागा क्यो खराब करे ।

इस रक्षाबंधन पर क्या मांगे भाई से 
       बहनो निश्चित ही आप इस रक्षाबंधन पर अपने भाई को राखी बांधगी । तो इस मौके पर भाई से केवल एक वचन ले कि :-
             हे मेरे बांधवा
       इस रक्षाबंधन पर मुझे वचन दे
  जितना सम्मान तुम मुझे देते हो उतना
सम्मान तुम सभी की बहनो को देना ।

ज्ञान द्रष्टा का निवेदन
रक्षाबंधन के मौके पर हो सकता है आपके पास भी ऐसे कुछ मैसेज आए तो उन्हे forward करने की बजाय delete करके एक भाई का फर्ज निभाए ।
 

आप के भी रक्षाबंधन और आज का युवा वर्ग पर मन मे कोई विचार हो तो कमेन्ट के माध्यम से शेयर करे ।


Keywords :- रक्षाबंधन , त्योहार , युवा वर्ग , rakshabandhan , youngsters , social media , massage , knowledge 


Previous
Next Post »