हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के 10 आचरण सूत्र


Hello friends इस post मे हम हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के दस आचरण सूत्र ( Harvard University's 10 Practices formula )  को पढेगे। 


Harvard university


●   सभी लोग चिंतन करके ही व्यवहार करते है, ऐसा नहीं है | वे जो कुछ करते है वह उचित ही होता है , ऐसा भी नहीं है | ज्यादातर लोग अपना ही विचार करके चलते है, बरतते है|
फिर भी...........उनके प्रति सद्भावना रखे, उनके साथ प्रेम से व्यवहार करें|

●  आप कुछ अच्छा करेंगे , तो लोग कहेंगे की ऐसा करने के पीछे भीतर से आपका हेतु स्वार्थ का है|
फिर भी.........अच्छा करना, भलाई की राह पर चलना चालू रखे|

● .यदि आप अपने कार्य में सफल होंगे तो निकम्मे मित्र आपको मिल जाएंगे |
फिर भी..........उनके प्रभाव में नहीं आकर , सफलता के लिये काम करते रहे |

●  आप आज जो कुछ अच्छा करेंगे , भलाई का काम करेंगे , वह कल भुला दिया जायेगा |
फिर भी..........अच्छा करते रहना , भलाई करते रहना चालू रखे|

● आप प्रमाणिकता से व्यवहार करेंगे , सत्य बातें करेंगे , तो आप आलोचना में फँस जाएँगे , आप विवाद के पात्र बनेगे |
फिर भी..........प्रमाणिकता का त्याग नहीं करना है | सच्चे बने रहे |

● उच्च विचारवान बड़े से बड़े व्यक्ति को भी एक संकुचित विचार वाला तोड़ दे ऐसा हो सकता है |
फिर भी.........उच्च विचार से लगे रहना , दृष्टि विशाल रखना|

● दीन व् भाग्यहीन के प्रति सब कोई दया भाव दिखाते है यह सच है, मगर ऐसे लोग भी धनिक व् भाग्यवान का ही अनुसरण करते है |
फिर भी...........गरीब व् भाग्यहीन के लिये लड़ता रहना |

● जिस ईमारत को बनाने में बरसों लगे हो, वह रात रात में जमींदोज हो जाए, ऐसा हो सकता है |
फिर भी इमारत बनाना चालू रखे |
● लोगो को वास्तव में help की आवश्यकता होती है | आप उनको सहायता करेंगे और वे आपको thanks कहने की बजाय आप पर हमला बोल दें, ऐसा भी हो सकता है |
फिर भी..........लोगो की सहायता करने में कभी पीछे मत हटना |

●  आपके पास जो श्रेष्ठ , वह संसार को देते रहो| बदले शायद लातें मिलेंगी |
फिर भी.........आपके पास जो श्रेष्ठ है, वह संसार को दे ही दें |



आपको हमारा यह लेख कैसा लगा कमेंट बॉक्स में अपने विचार रखे , यदि आपको हमारा लेख पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे |


keywords :- अनमोल वचन , हार्वर्ड यूनिवर्सिटी ,Harvard University , help ,Harvard University's 10 Practices formula , 10 practices formula , anmol vachan , achche vichar , अच्छे विचार 

विरम सिंह
विरम सिंह

This is a short biography of the post author. Maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec vitae sapien ut libero venenatis faucibus nullam quis ante maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec.

No comments:

Post a Comment