राजस्थान टूरिज्म ने किया मेवाड़ के इतिहास को शर्मसार

राजस्थान के स्वर्णिम इतिहास को हमेशा बदनाम करने की कोशिश की जाती है । बिना किसी वजह जयचंद जी को गद्दार कहा जाता है और राजस्थान पाठ्यक्रम की पुस्तको मे भी इतिहास के साथ हर बार गलत तरीके से पेश किया जाता है ।

इस बार राजस्थान के इतिहास को शर्मसार करने की गंदी हरकत की है राजस्थान टूरिज्म ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक बहुत ही गैर जिम्मेदाराना और शर्म करने लायक ट्वीट किया है ।

राजस्थान टूरिज्म ने अपने पोस्ट मे महारानी पद्मिनी को अलाउद्दीन खिलजी की प्रेमिका बताया , जो कि मेवाड़ का हि पुरे राजस्थान का अपमान है ।
 राजस्थान टूरिस्ट ने अपनी कमाई करने के लिए राजस्थान के उज्ज्वल इतिहास के साथ इतनी भारी छेड़खानी की है।

  राजस्थान टूरिज्म ने यह ट्विट किया
          Al-ud-din khilji saw his beloved's reflection here & was so mesmerized by it, that he led his forces to abduct her.

ज्ञान द्रष्टा


 Rajasthan sarkar  ने जो पोस्ट की वो बहुत हि निंदनीय है । हम पूछना चाहते है कि क्या आप अपना प्रचार करने के  लिए इतिहास को को कलंकित करेंगे ? आप अपनी (राजस्थान टूरिज्म) छवि को अच्छी दिखाने के लिए इतिहास की छवि को धूमिल करोगे ?

राजस्थान टूरिज्म ने जो यह पोस्ट की उसे शर्म आनी चाहिए । उन्होने महारानी पद्मिनी के जौहर और बलिदान का अपमान किया है ।
महारानी ने और अन्य वीर महिला ने जो बलिदान दिया उस का अपमान किया है ।
राजस्थान टूरिज्म सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए ।

राजस्थान टूरिज्म को चाहिए कि वो मेवाड के इतिहास को पढे और फिर उसके बारे मे लिखे । टूरिज्म ने जो कृत्य किया  है उसका पुरा राज्य विरोध कर रहा है ।
सोशल मीडिया मे यह बात सामने आने पर इसका जोरदार विरोध हुआ , और राजस्थान टूरिज्म को अपना गंदे दिमाग की उपज मे आया हुआ ट्विट हटाना पडा ।

राजस्थान टूरिज्म के इस कृत्य का आरएसएस और कई इतिहासकार ने विरोध किया और इस ट्विट को राजस्थान इतिहास को शर्मसार करने वाला बताया ।

राजस्थान टूरिज्म के इस कृत्य का हमारा ब्लॉग निंदा करता  है । और उन्हे सलाह है कि दुबारा ऐसी गलती नही करे ।





राजस्थान के स्वर्णिम इतिहास को हमेशा बदनाम करने की कोशिश की जाती है । बिना किसी वजह जयचंद जी को गद्दार कहा जाता है और राजस्थान पाठ्यक्रम की...